दोस्ती शायरी

1.दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान है,
दोस्त ना हो तो महफिल भी
शमशान है।।

दोस्ती शायरी

2.लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता,शायद उन
लोगों को दोस्त कोई तुम-सा
नहीं मिलता।।

दोस्ती शायरी

3.ज़िन्दगी नहीं हमे दोस्तों से
प्यारी,दोस्तों के लिए हाजिर
है जान हमारी।।

दोस्ती शायरी

4.रिश्ते उन्ही से बनाओ जो
निभाने की औकात रखते हो।।

दोस्ती शायरी

5.दोस्ती में दोस्त, दोस्त का ख़ुदा होता है, महसूस तब होता है जब वो जुदा होता है।।

दोस्ती शायरी

6.ना तुम दूर जाना ना हम दूर जायेंगे,
अपने-अपने हिस्से की दोस्ती निभाएंगे।।

दोस्ती शायरी

7.कौन कहता है कि दोस्ती बराबर वालों में होती है
सच तो यही है कि दोस्ती में सब बराबर होता है।।

दोस्ती शायरी

8.ये जो हालात हैं एक रोज सुधर जायेंगे पर कई लोग मेरे दिल से उतर जायेंगे शायरी दोस्ती।।

और पड़े दोस्ती शायरी

+ + +

CLICK HARE