Top 25 (मज़बूरी शायरी) Majburi Shayari In Hindi (2022)

Majburi Shayari In Hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारी इस नई पोस्ट Majburi Shayari In Hindi में आज हम आपके लिए लाये बेस्ट Majburi Shayari In Hindi आज हम बात करेंगे Majburi Shayari In Hindi इस पोस्ट में Majburi Shayari In Hindi इंटरनेट पर ढूढ ढूढ कर आपके लिए सबसे बढ़िया कलेक्शन एक जगह इकट्ठा किया है ताकि आपके हर एक Majburi Shayari In Hindi एक ही जगह आसानी से मिल सके तो पढ़िए अपनी मातृभाषा हिंदी में बेस्ट।

Majburi Shayari In Hindi

1.ये न समझ के मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरी सांसो में आज भी है,
मजबूरी ने निभाने न दी मोहब्बत ,
सच्चाई तो मेरी वफ़ा में आज भी है।।

2.मजबूरी में जब जुदा होता है,
ज़रूरी नहीं के वो बेवफा होता है,
दे कर वो आपकी आँखों में आँसू,
अकेले में आपसे भी ज्यादा रोता है।।

3.किसी की मजबूरियाँ पे न हँसिये.
कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नहीं लाता।।

4.जाने क्या ऎसी मजबूरी थी,
दोनों पास होके भी दूरी थी,
हम दोनों को मिलने ही ना मिला,
जाने क्या ऎसी मजबूरी थी।।

5.आती जाती साँसों सी कट रही है ज़िन्दगी,
साँस लेना ज़िन्दगी की मज़बूरी हो जैसे।।

6.तेरी ख़ामोशी अगर तेरी मज़बूरी है,
तो रहेने दे इश्क कौन सा ज़रूरी है।।

7.बहाना कोई तो ऐ ज़िंदगी दे,
कि जीने के लिए मजबूर हो जाऊँ।।

8.मजबूरी जैसी भी हो बताना मत,
यहाँ सभी के पास दिमाग है दिल से कोई नहीं सुनेगा।।

9.किसी की मजबूरी कोई समझता नहीं,
दिल टूटे तो दर्द होता है मगर कोई कहता नहीं।।

10.कितने मजबूर हैं हम प्यार के हाथों,
ना तुझे पाने की औकात ना तुझे खोने का हौसला।।

11.जिन्दगी भी तवायफ की तरह होती है,
कभी मजबूरी में नाचती है, कभी मशहूरी में।।

12.चलो हम भी वफ़ा से बाज़ आए,
मोहब्बत कोई मजबूरी नहीं है।।

13.वो मजबूरियों से घिरा है, वो मजबूर बहुत है,
वो डरता नहीं मोहब्बत से, इसलिए मशहूर बहुत है।।

14.ये न समझ के मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरी सांसो में आज भी है,
मजबूरी ने निभाने न दी मोहब्बत ,
सच्चाई तो मेरी वफ़ा में आज भी है।।

15.किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है।।

16.मुस्कुरा देता हूँ अक्सर देखकर पुराने खत तेरे
तू झूठ भी कितनी सच्चाई से लिखती थी।।

17.उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है,
उन से कह न पाना हमारी मजबूरी है,
वो क्यू नै समझते हमारी खामोशी को।।

18.मजबूरियॉ ओढ़ के निकलता हूंघर से आजकल,
वरना शौक तो आज भी हैबारिशों में भीगनें का।।

19.कोई मजबूरी होगी जो वो याद नहीं करते,
सम्भल जा ऐ दिल तुझे तो रोने का बहाना चाहिए।।

20.बहाना कोई तो ऐ ज़िंदगी देकि जीने के लिए मजबूर हो जाऊँ।।

21.हर इन्सान यहा बिकता है कितना सस्ता या कितना महंगा ये उसकी मज़बूरी तय करती है।।

22.नाकाम हैं असर से दुआएँ दुआ से हममजबूर हैं कि लड़ नहीं सकते ख़ुदा से हम।।

23.रिश्ते बंधे हो अगर दिल की डोरी से
तो दूर नही होते किसी मजबूरी से।।

24.जब कोई ख्याल दिल से टकराता है
दिल न च कर भी खामोश रह जाता है
कोई सब कुछ कहे पियार जताता है
कोई कुछ बिना कहे भी सब बोल जाता है।।

25.हर कोई किसी की मज़बूरी नहीं समझता
दिल से दिल की डोरी नहीं समझता
कोई तो किसी के बिना मर मर के जीता है
और कोई कीड़ी को याद करना भी ज़रूरी नशी समझता।।

और पड़े – Alone Motivational Status In Hindi
और पड़े – Success Status In Hindi
FOLLOW NOW – INSTAGRAM

तो दोस्तो उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Majburi Shayari In Hindi अच्छी लगी होगी तो आप जरुर शेयर करें

About Surendra Uikey

Surendra Uikey Is A Co-Founder Of Motivational Shayari. He Is Passionate About Content Writer Shayari, Quotes, Thoughts And Status Writer

View all posts by Surendra Uikey →

Leave a Reply

Your email address will not be published.