TOP-10 Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi (2021)

Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi

नमस्कार साथियों स्वागत है आपका हमारी पोस्ट Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi में हम आपके लिए लाये है Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi कुमार विश्वास एक भारतीय हिन्दी कवि, वक्ता और सामाजिक-राजनैतिक कार्यकर्ता हैं। वे आम आदमी पार्टी के नेता रह चुके हैं। वे युवाओं के अत्यन्त प्रिय कवि हैं। हिंदी को भारत से विश्व तक पुनः स्थापित करने वाले कुमार विश्वास के कविता के मंचन, वाचन, गायन की प्रतिभा के धनी हैं। उन्हें अत्याधुनिक हिंदी काव्यलोक में अब ‘सरस्वती का वरद पुत्र’ कहा जाता है इसलिए आपके लिए कुछ Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi हमने आपके लिए इंटरनेट पर ढूंढ ढूंढ कर एक जगह इकट्ठा किए ताकि आप इन शायरी को पढ़कर ढृढ़ता से जीवन में उतरे तो इन शायरी से आपकी जिंदगी बदल सकती है तो पढ़िए अपनी मातृभाषा हिंदी में बेस्ट।

Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi

1.किसी गजरे की खुशबू को महकता छोड़ आया हूं , मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूं मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ए भारत मा ,मैं अपनी मां की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं ..

2.चलो फिर से आज वो नज़ारा याद कर ले , शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद कर ले जिसमे बहकर आजादी पहुंची थी किनारे ,देश भक्तों के खून की वो धारा याद कर ले …

3.वतन हमारा ऐसा के कोई छोड़ पाए ना , रिश्ता हमारा ऐसा के कोई तोड़ पाए ना दिल हमारा एक है एक हमारी जान है ,हिंदुस्तान हमारा है और हम इसकी शान है …

4.राष्ट्र की खातिर सर्वस्व देना ही होगा कर्ज इस माटी का चुकाना ही होगा रहो तुम चाहे सात समुंदर पार मगर देश अगर पुकारे तो आना ही होगा

5.तु लिख दे नयी तस्वीर, खींच के तलवार से लकीर, तू भारत माँ का लाल है, तेरे हाथ में है तकदीर मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है,मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है

6.जो भरा नहीं है भावों से, जिसमें बहती रसधार नहीं, वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं.

7.ना तन मांगू,ना धन मांगू इस मिट्टी का लाल हूं जब तक है बस वतन कि बाहें मांगू

8.ये वक्त बहुत ही नाजुक है, हमारे ऊपर बहुत सारा हमले है दुश्मन का दर्द यही तो है ,हम हर हमले पर संभले है

9.जब सुख मैं नींद लेते हैं हम तब हमारे जैसे कोई खरा हैं सीमाना पर कभी मत भूलो उस वीर जवान को जिन्होने हमारे लिए चोरा खुद का घर

10.लड़े हमारा संतान वीरों की तरह, जब खून धारा की तरह निकल पड़ा आखरी दम तक लड़ते रहे वो, तब ही तो हमारा देश स्वाधीन हुआ

11.उनका हौसले का भुगतान क्या करेगा कोई , उनका शहादत का कर्ज स्वदेश पर उधार है , आप और हम इसलिए खुशहाल है किउकी , सीमा पर सैनिक शहादत को हैं तैयार

12.भारत प्यारा देश हमारा सब देशों से अलग है हर जाइगा हर एक मौसम इसका ,कैसा सुंदर नौशेरा है

13.राखियों की प्रतीक्षा , सिन्दूर दान की व्यथाऒं देशहित प्रतिबद्ध यौवन कै सपन तुमको प्रणाम है बहन के विश्वास भाई के मित्रता कुल के सहारे पिता के व्रत के फलित माँ के नयन तुमको प्रणाम है

और पड़े – Success Status In Hindi
FOLLOW NOW – INSTAGRAM

तो दोस्तो उम्मीद करते हैं आपको हमारी पोस्ट Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari In Hindi  पसंद आईं होगी तो साझा जरुर करे

About Surendra Uikey

Surendra Uikey Is A Co-Founder Of Motivational Shayari. He Is Passionate About Content Writer Shayari, Quotes, Thoughts And Status Writer

View all posts by Surendra Uikey →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *