45+ (गम शायरी हिंदी) Gam Shayari Hindi (2022)

Gam Shayari Hindi

यदि आप Gam Shayari Hindi की खोज में है जहां पर आपको Gam Shayari Hindi पढ़ने को मिल जाएगी तो आप सही जगहें पर आए हो क्योंकि आपको सबसे अच्छा Gam Shayari Hindi का संग्रह मिलने वाला है

Gam Shayari Hindi अगर आप सोशल मीडिया में शेयर करना चाहते हैं तो आप नीचे Gam Shayari Hindi आर्टिकल को पढ़कर शेयर कर सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं।

Gam Shayari Hindi

न कर तू इतनी कोशिसे,
मेरे दर्द को समझाने की,
पहले इश्क कर फिर जख्म खा,
फिर लिख दवा मेरे दर्द की।।

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं,
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं,
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी,
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।।

तुझे इस तरह यू भुला ना सकेंगे,
तेरे अलावा किसी की अपना ना सकेंगे,
तू ही मेरी ज़िन्दगी मेरी जान है,
तेरी मोहब्बत का दाग हम धुला ना सकेंगे।।

Gam Shayari Hindi

वो तो अपने दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाईयों से आँखें चुराते रहे,
और हमें बेवफ़ा का नाम मिला,
क्योंकि हम हर दर्द मुस्कुरा कर छिपाते रहे।।

अपनो की पाने की चाह में,
हमने खुद को इस कदर खो दिया,
ज़िन्दगी बची है अब चंद पलो की,
ये दिल भी मेरा खून के आंसू रो लिया।।

तेरे दिल के करीब आना चाहता हूँ मैं,
तुझको नहीं और अब खोना चाहता हूँ मैं,
अकेले इस तनहाई का दर्द बर्दाश्त नहीं होता,
तू एक बार आजा तुझसे लिपट कर रोना चाहता हूँ मैं।।

वो रात दर्द और सितम की रात होगी,
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी,
उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर,
कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी।।

आज फिर तेरी याद आयी बारिश को देख कर,
दिल पे ज़ोर न रहा अपनी बेबसी को देख कर,
रोये इस कदर तेरी याद में,
कि बारिश भी थम गयी मेरी बारिश को देख कर।।

Gam Shayari Hindi

दिल का दर्द हमारा भी अब
सारी हदें आर पार कर रहा है,
दिलबर भी कितना संगदिल है
एक जुर्म को बार बार कर रहा है।।

आरज़ू नहीं के गम का तूफान टल जाये,
फ़िक्र तो ये है तेरा दिल न बदल जाये,
भुलाना हो अगर मुझको तो एक अहसान करना,
दर्द इतना देना के मेरी जान निकल जाये।।

Gam Ki Shayari

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,
जिसका रास्ता बहुत खराब है,
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।।

शीशा तो टूट कर, अपनी कशिश बता देता है,
दर्द तो उस पत्थर का हैं, जो टुटने के काबिल भी नही।।

मेरे इस दर्द की वजह भी वो हैं,
और मेरे दर्द की दवा भी तो वो हैं,
वो नमक ज़ख्मों पे लगाते हैं तो क्या,
मोहब्बत करने की वजह भी तो वो हैं।।

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं,
हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ,
कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब,
मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं।।

Gam Shayari Hindi

मोहब्बत का मेरे सफर आख़िरी है,
ये कागज कलम ये गजल आख़िरी है,
मैं फिर ना मिलूँगा कहीं ढूंढ लेना,
तेरे दर्द का अब ये असर आख़िरी है।।

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम में आँसू न बहते तो और क्या करते,
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम अपना दिल न जलाते तो और क्या करते।।

ना कर तू इतनी कोशिशे,
मेरे दर्द को समझने की,
पहले इश्क़ कर, फिर ज़ख्म खा,
फिर लिख दवा मेरे दर्द की।।

दर्द कितना है बता नहीं सकते,
ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते,
आँखों से समझ सको तो समझ लो,
आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते।।

ग़म देकर तुमने खता की,ऐ सनम
तुम ये न समझना, तेरा दिया हुआ
ग़म भी,हमें दवा ही लगता है।।

Gam Shayari

रूठी जो ज़िंदगी तो मना लेंगे हम,
मिले जो ग़म वो सह लेंगे हम,बस आप
रहना हमेशा साथ हमारे,तो निकलते हुए
आंसूओं में भी,मुस्कुरा लेंगे हम।।

Gam Shayari Hindi

देख कर उसको अक्सर हमें एहसास होता है,
कभी कभी ग़म देने वाला भी बहुत खास होता है,
ये और बात है वो हर पल नहीं होता पास हमारे,
मगर उसका दिया ग़म अक्सर हमारे पास होता है।।

हाल-ए-दिल अपना क्या सुनाएं आपको,
ग़म से बातें करना आदत है हमारी,
लोग मरते हैं सिर्फ एक बार सनम,
रोज पल-पल मरना किस्मत है हमारी।।

कुछ ग़मों का होना भी जरूरी है
ज़िंदगी में, ज़िंदा होने का अहसास
बना रहता हैं।।

रात भर मुझको गम-ए-यार ने सोने न दिया,
सुबह को खौफ-ए-शब-ए-तार ने सोने न दिया,
शमा की तरफ मेरी रात कटी सूली पर,
चैन से याद-ए-कद -ए-यार ने सोने न दिया।।

ग़म नहीं ये कि क़सम अपनी भुलाई तुमने,
ग़म तो ये है कि रकीबों से निभाई तुमने,
कोई रंजिश थी अगर तुमको तो मुझसे कहते,
बात आपस की थी क्यूँ सब को बताई तुमने।।

Gam Shayari Hindi

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे,
यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है,
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे।।

हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे
वो भी पल पल हमें आजमाते रहे
जब मोहब्बत में मरने का वक्त आया
हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे।।

बिछड़ गए हैं जो उनका साथ क्या मांगू,
ज़रा सी उम्र बाकी है इस गम से निजात क्या
मांगू,वो साथ होते तो होती ज़रूरतें भी हमें,
अपने अकेले के लिए कायनात क्या मांगू।।

दर्द का साज़ दे रहा हूँ तुम्हे,
दिल का हर राज़ दे रहा हूँ ‍‌तुम्हे
ये गज़ल-गीत सब बहाने हैं,
मैं तो आवाज़ दे रहा हूँ ‍‌तुम्हे।।

इस दिल को किसी की आस रहती है,
निगाहों को किसी सूरत की प्यास रहती है,
तेरे बिना किसी चीज़ की कमी तो नही,
पर तेरे बेगैर जिन्दगी बड़ी उदास रहती है।।

Gam Ki Shayari Hindi

रात को सोते हुए एक बेवजह सा ख्याल
आया, सुबह ना जाग पाऊँ तो क्या उसे
खबर मिलेगी कभी।।

याद करते है तुम्हे तन्हाई में दिल डूबा है
गमो की गहराई में हमे मत ढूंढना दुनिया
की भीड़ में हम मिलेंगे तुम्हे तुम्हारी ही
परछाई में।।

ज़िन्दगी हैं नादान इसलिए चुप हूँ,
दर्द ही दर्द सुबह शाम इसलिए चुप हूँ
कह दू ज़माने से दास्तान अपनी,
उसमे आएगा तेरा नाम इसलिए चुप हूँ।।

बिन बात के ही रूठने की आदत है
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है
आप खुश रहें, मेरा क्या है मैं तो आइना हूँ,
मुझे तो टूटने की आदत है।।

Gam Shayari Hindi

था कोई जो मेरे दिल को ज़ख्म दे गया ,
ज़िन्दगी भर रोने की कसम दे गया,
लाखों फूलों में से एक फूल चुना था मैंने,
जो काटों से भी गहरा ज़ख्म दे गया।।

तेरे प्यार का सिला हर हाल में देंगे,
खुदा भी मांगे ये दिल तो टाल देंगे,
अगर दिल ने कहा तुम बेवफ़ा हो,
तो इस दिल को भी सीने से निकाल देंगे।।

जरा सी गलतफहमी पर न छोड़ो किसी
अपने का दामन क्योंकि जिंदगी बीत
जाती है किसी को अपना बनाने में।।

मुद्दत से जिन की आस थी वो मिले भी तो कुछ यूँ मिले,
हम नजर उठा कर तड़प उठे वो नजर झुका कर गुजर गए।।

दर्द दे गए सितम भी दे गए,
ज़ख़्म के साथ वो मरहम भी दे गए,
दो लफ़्ज़ों से कर गए अपना मन हल्का,
और हमें कभी ना रोने की कसम दे गए।।

एक कहानी सी दिल पर लिखी रह गयी,
वो नजर जो उसे देखती रह गयी,
वो बाजार में आकर बिक भी गए,
मेरी कीमत लगी की लगी रह गयी।।

Gum Ki Shayari

खुशीयों की मंजिल ढुंढी तो ग़म की गर्द मिली
चाहत के नगमें चाहे तो आहें सर्द मिली दिल के
बोझ को दुना कर गया, जो ग़मखार मिला।।

वो रात दर्द और सितम की रात होगी,
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी,
उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर,
कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी।।

दर्द होता नही दुनियाँ को दिखाने के लिए,
हर कोई रोता नही आँसू बहाने के लिए,
रूठने का मज़ा तो तब आता हैं दोस्तों
जब अपना हो कोई मनाने के लिए।।

वो तो अपने दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाईयों से आँखें चुराते रहे,
और हमें बेवफ़ा का नाम मिला,क्योंकि
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छिपाते रहे।।

Gam Shayari Hindi

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम के आँसू न बहाते तो और क्या करते,
उसने माँगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम अपना घर न जलाते तो और क्या करते।।

प्यार किया नादान थे हम, गलती हुई क्योंकि
इंसान थे हम, आज जिन्हें नज़रें मिलाने में
तकलीफ होती है कभी उसकी जान थे हम।।

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये,
तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये,
कई बार पुकारा इस दिल ने तुम्हें,
और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये।।

वो नही आती पर अपनी निशानी भेज
देती है, ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है,
उसकी यादों के पल कितने भी मीठे हैं,
मगर कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है
।।

ररोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।।

कभी जो कहते थे तुम्हे कभी ना रोने देंगे,
आंसू भरी आंख लेकर तुझे कभी सोने देंगे,
आखिर वहीं हमारी आंख का आंसू बन गए,
जो कहते थे तुमको कभी खोने ना देंगे।।

FOLLOW NOW – INSTAGRAM

तो दोस्तो उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा Gam Shayari Hindi आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा तो आप जरुर शेयर करें धन्यवाद्

और पड़े –Mujhe Koi Fark Nahi Padta Status

और पड़े – Dua Shayari In Hindi

About Surendra Uikey

Surendra Uikey Is A Co-Founder Of Motivational Shayari. He Is Passionate About Content Writer Shayari, Quotes, Thoughts And Status Writer

View all posts by Surendra Uikey →

Leave a Reply

Your email address will not be published.