TOP 37+ (दुआ शायरी) Dua Shayari In Hindi (2021)

Dua Shayari In Hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारी इस नई पोस्ट Dua Shayari In Hindi में आज हम आपके लिए लाये बेस्ट Dua Shayari In Hindi आज हम बात करेंगे Dua shayari in Hindi
आजकल बाजार में दवा भी नकली मिलती है और समाज में दुआ भी नकली मिलती है .दोनों ही काम के हैं अगर वो असली हों अच्छे दुकान से दवा मिल जाएगी और वो निश्चित ही काम करेगी जहाँ तक दुआ की बात है वो भी काम आती है अगर वो किसी पवित्र आत्मा ने दिल से की हो मरीज के लिए दवा और दुआ दोनों ही काम के हैं

Dua Shayari In Hindi हमने इंटरनेट पर ढूढ ढूढ कर आपके लिए सबसे बढ़िया कलेक्शन एक जगह इकट्ठा किया है ताकि आपके हर एक दुआ से जुड़ी शायरी एक ही जगह आसानी से मिल सके तो पढ़िए अपनी मातृभाषा हिंदी में बेस्ट

Dua Shayari In Hindi

1.हमसे भी पूछ लो कभी हाल-ए-दिल हमारा,
कभी हम भी कह सकें की दुआ है आपकी।।

2.जो लोग दूसरो को अपनी दुआओं में शामिल करते हैं…
खुशियाँ सब से पहले उन्हीं के दरवाज़े पे दस्तक देती हैं।।

3.मैंने वहाँ भी तुझे माँगा था,
जहाँ लोग सिर्फ खुशियाँ माँगा करते हैं।।

4.दुआ कौन सी थी बस याद नही दो हथेलीयां
जुङी थी एक तेरी थी एक मेरी।।

5.सारि उम्र बस एक ही सबक याद रखना
दोस्ती और दुआ में बस नियत साफ रखना।।

6.बस इतनी सी दुआ हे उस खुदा से
तेरा हर दर्द मेरा हो जाये और मेरी हर ख़ुशी तेरी हो जाये।।

7.दुआओ में बस तुम्हे मांगूंगा,
हमेशा तुम्हारा साथ चाहूँगा .
पल-पल मरने को जी है करता,
पता नहीं कब तक ऐसे जी पाउँगा।।

8.दिल से दुआ है कि खुश रहो तुम,
आये ना आस-पास ज़रा भी गम .
इस जन्म में नहीं मिल पाए तो क्या,
अगले जन्म में ज़रूर साथ रहेंगे हम।।

9.मुद्दते हो गयी, गुनाह करते करते,
शर्म आती है अब, दुआ करते हुए।।

10.परवाह नहीं अगर ये जमाना खफा रहे,
बस इतनी सी दुआ है, दोस्त मेहरबां रहे।।

11.तुम तो दुनिया से निराली ही सजा देते हो
कितने चालाक हो क़ातिल दुआ देते हो।।

12.भले ही तू जाते जाते मेरे दिल को इतने ज़ख़्म दे गयी,
लेकिन फिर भी मेरे दिल के हर ज़ख़्म तुझे दुआ ही देंगे।।

Dua Status In Hindi

13.मै आशना हू अपने नसीब से बहुत,
वो दुआ से मुझ को कभी मिलता भी नही।।

14.राह पर ले आये तो है, घर में भी जायेंगे,
एक मकबूल अगर, मेरी दुआ और हुयी।।

15.वादे से पहले ये दुआ माँग लीजिये,
या रब उसे मेरी कसम का ऐतबार हो।।

16.सर झुकाने की खूबसूरती भी, क्या कमाल की होती है, धरती पर सर रखा और,
दुआ आसमान में कुबूल हो जाती हैं।।

17.हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये,
हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये,
जो आपके बिना जी न सके एक पल,
उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये।।

18.क्या दुआ करूँ आय खुदा में उसके लिए
बस यही दुआ है क वो कभी किसी की दुआ का मोहताज न हो।।

19.हमने ये तो नहीं कहा की,
आपके लिए कोई दुआ ना मांगे,
बस इतना कहते है की दुआ में,
कोइ आपको ना मांगे।।

20.तुम दुआ हो मेरी सदा के लिए,
मै जिंदा हूँ तुम्हारी दुआ के लिए,
कर लेना लाख शिकवे हमसे,
मगर कभी खफा न होना खुदा के लिए।।

21.हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल,
दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है।।

22.माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की,
आखरी दुश्मनी है दुआ की असर के साथ।।

23.भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद,
यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रखा है।।

24.उसको रब से इतनी बार माँगा है
के अब हम सिर्फ हाथ उठाते है
सवाल फ़रिश्ते खुद लिख देते है।।

25.हमने चाहा आपको आपने चाहा किसी और को
खुदा न करे तुम्हे चाहने वाला चाहे किसी और को।।

26.सब कुछ खुदा से मांग लिया
एक तुझ को मांग कर उठा नहीं
हाथ मेरा इस दुआ के बाद ।।

27.मैं बद्दुआ तो नहीं दे रहा हूँ
उस को मगर दुआ ये ही है

उसे मुझ सा अब कोई ना मिले।

28.में बिखर जाऊंगा आसुंओ की तरह
इस कदर प्यार से बद्दुआ न दे।।

29.दुनिया के लिए कुछ भी सही तेरे लिए हम
ऐ दोस्त सदा माँ की दुआ की तरह हैं ।।

30.उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या,
ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो।।

31.मैं उसकी ज़िंदगी से चला जाऊं यह उसकी दुआ थी
और उसकी हर दुआ पूरी हो, यह मेरी दुआ थी।।

32.करम ही करना है तुझको तो ये करम कर दे
मेरे खुदा तू मेरे ख्वाईशो को कम कर दे।।

33.हादसे रोज़ ही “क़तरा” कर “गुज़र” जाते हैं
जाने वो “कौन” है जो मुझको “दुआ” देता है।।

34.ज़िंदगी में न कोई राह आसान चाहिए,
न कोई अपनी ख़ास पहचान चाहिए,
बस एक ही दुआ माँगते हैं रोज भगवान से,
आपके चेहरे पे प्यारी सी मुस्कान चाहिए।।

35.हम दुआओं में दिल से दुआ करते हैं,
हाथ फैलाये रब से इल्तज़ा करते हैं,
उन पर गम का साया न आने पाए,
जो दिल से हमें अपना कहा करते हैं।

36.न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक़ में दुआ,
आज तबियत में जरा आराम सा है।।

37.लौट आती है हर बार मेरी दुआ खाली,
जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है।।

38.भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद,
यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रक्खा है।।

39.मैं क्या करूँ मेरे क़ातिल न चाहने पर भी
तेरे लिए मिरे दिल से दुआ निकलती है।।

40.दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे,
जो रंज की घड़ी भी खुशी से गुजार दे।।

और पड़े – Alone Motivational Status In Hindi
और पड़े – Success Status In Hindi
FOLLOW NOW – INSTAGRAM

तो दोस्तो उम्मीद है हमारा Dua Shayari In Hindi संग्रहण आपको पसंद आया होगा तो आप जरुर साझा करें ।।

About Surendra Uikey

Surendra Uikey Is A Co-Founder Of Motivational Shayari. He Is Passionate About Content Writer Shayari, Quotes, Thoughts And Status Writer

View all posts by Surendra Uikey →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *